शुक्रवार की शाम यू टी क्रिकेट एसोसिएशन और सभी क्रिकेट खिलाडियों के लिए ऐतिहासिक शाम साबित हुई |

शुक्रवार की शाम यू टी क्रिकेट एसोसिएशन और सभी क्रिकेट खिलाडियों के लिए ऐतिहासिक शाम साबित हुई |

प्रेस नोट

यू टी क्रिकेट एसोसिएशन को बीसीसीआई से मिली मान्यता, टंडन ने जताया आभार

बीसीसीआई की मान्यता मिलते ही यू टी क्रिकेट एसोसिएशन में ख़ुशी की लहर

अब चंडीगढ़ के क्रिकेट टीम भी राष्ट्रीय स्तर के विभिन्न टूर्नामेंट में लेगी भाग

चंडीगढ़ 26 जुलाई, 2019 : शुक्रवार की शाम यू टी क्रिकेट एसोसिएशन और सभी क्रिकेट खिलाडियों के लिए ऐतिहासिक शाम साबित हुई | वर्षों से जिस निर्णय का इंतज़ार था वो दिन आखिर आ ही गया | बीसीसीआई ने वर्षों बाद आज यू टी क्रिकेट एसोसिएशन को अपनी मान्यता प्रदान कर दी | अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि करने के लिए आज एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय टंडन ने  सेक्टर 16 के क्रिकेट स्टेडियम में बीसीसीआई के इस निर्णय की औपचारिक घोषणा की | इस फैसले की ख़ुशी में सभी लोगों ने एक दूसरे का मुंह मीठा करवाया |

इस शुभ समाचार के उपरान्त अध्यक्ष संजय टंडन ने चंडीगढ़ के प्रशासक वी पी सिंह बदनोर, बीसीसीआई के सी ओ ए प्रमुख विनोद राय, सी ई ओ  राहुल जोहरी और उसके सभी पदाधिकारियों का इस ऐतिहासिक निर्णय के लिए आभार व्यक्त किया | इस अवसर पर उन्होंने कहा कि अब चंडीगढ़ की क्रिकेट टीम राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली विभिन्न प्रतिस्पर्धा में भाग ले सकेगी | अब चंडीगढ़ के खिलाडियों को अपनी प्रतिभा दिखाने के और अधिक अवसर प्राप्त होंगे | खिलाडियों को और अधिक बेहतर सुविधाएँ प्राप्त हो सकेंगी | प्रशिक्षण के लिए नवीनतम तकनीक उपलब्ध मुहैया करवाई जायेंगी और यहाँ से अधिक से अधिक खिलाडियों को तैयार किया जायेगा | उन्होंने बीसीसीआई द्वारा प्रदान की गई मान्यता का गुणगान करते हुए कहा कि यह उपहार चंदिगढ़वासी युगों युगों तक याद रखेंगे और ये उनका सुभाग्य है कि उनके साथ सभी पदाधिकारी भी कंधे के साथ कन्धा मिला कर खड़े रहे और तब तक हार नहीं मानी जब तक कि यह ऐतेहासिक फैसला नहीं आया | यह सब हम सभी के लिए बड़े गर्व की बात है |

उन्होंने एसोसिएशन के शुरूआती दौर से लेकर अब तक के सफ़र को याद करते हुए कहा कि वर्ष 1982 में इसकी स्थापना हुई और धीरे धीरे यह संस्था बड़ा आकार लेती रही और वर्ष 2016 में एक ऐसा पड़ाव आया जब इसका कार्यभार वर्तमान अध्यक्ष संजय टंडन के हाथों आया और उन्होंने इसके मान्यता को दिलवाने का बीड़ा उठा लिया था | इसके लिए पहले दिन से ही उन्होंने अपने सभी पदाधिकारियों के साथ परामर्श करके इसकी रणनीति को बनाना शुरू किया जो कि आज कारगर साबित हुई | समय समय पर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बीसीसीआई के अधिकारीयों के साथ बातचीत का सिलसिला जारी रखा और इसी वर्ष बोर्ड की मान्यता देने वाली कमेटी ने चंडीगढ़ का दौरा कर विभिन्न एसोसिएशन से विचार विमर्श भी किया | उल्लेखनीय है कि तीन दिन पूर्व सीसी क्रिकेट पंजाब और हरियाणा का विलय यू टी क्रिकेट एसोसिएशन में हुआ | इस से एसोसिएशन और अधिक सुदृढ़ स्थिति में आई और परिणामस्वरूप एसोसिएशन को बीसीसीआई की मान्यता प्राप्त हुई |

इस मौके पर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष एच एस खुराना,महासचिव सुभाष महाजन, सह सचिव अलोक, कोषाध्यक्ष अनूप गुप्ता, मोहिंदर, क्रिकेटर मनन वोहरा, एम पी सिंह, दविंदर शर्मा, स्पोर्ट्स विभाग के निदेशक करनैल सिंह सैनी और कोच और एसोसिएशन से जुड़े खिलाडियों ने भी इसमें भाग लिया |

Share with those who matter
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Hashtags: